Iljaam Shayari । Shayari On Iljaam In Hindi

Iljaam Shayari । Shayari On Iljaam In Hindi । इल्जाम शायरी हिंदी 





हे दोस्तों, आप सभी को हमारे Shayari On Iljaam In Hindi पोस्ट पर हार्दिक स्वागत करते हैं. हर दिन हम आपके लिए ले कर आते है नये नये Status का Collection. 

www.150status.com में Iljaam Shayari Status के माध्यम से आप अपने जीवन के महत्व को समझ सकते हैं. आप इन सभी Status को अपने Instagram Bio, Whatsapp Status या Facebook Post के रूप में Use कर सकते हैं. 

सभी Status को आप जरूर पढ़े. पसंद आए तो इसे ज़रूर अपने दोस्तों के साथ Share करे. 

Comment Section में Comments कर के जरूर बताए आपको Status कैसा लगा. 

 इसी तरह के ओर भी मजेदार Status पढ़ने के लिए हमारे पेज को Subscribe ओर Follow जरूर करें. 

हम ओर भी Status, www.150status.com पर ले कर आए हैं, तो उन सभी Status को भी जरूर पढ़े. जैसे Love Status or Shayari, Sad status, Maut Shayari, Khwaab Shayari, Intezaar Shayari, Shayari On Nafrat, Zindagi Status Shayari, Garibi Par Line, Sorry Status, Friendship Status, Attitude Status, Badmashi Status, Bhaigiri Status, Dadagiri Status, Attitude Status, Kamina Status Jaat Status, Ego Status, Aukat Status ओर भी बहुत सारे Status का Collection है, उन्हे जरूर पढ़े. 




Iljaam Shayari Image

Iljaam Status 

दुनिया को हकीकत का मेरे पता कुछ भी नहीं,
इल्जाम हजारों हैं और खता कुछ भी नहीं..........!! 


दिल पे आये हुए इल्ज़ाम से पहचानते हैं,
लोग अब मुझको तेरे नाम से पहचानते हैं..............!! 


हर इल्ज़ाम का हकदार वो मुझे बना जाती है,
हर खता कि सजा वो हमे सुना जाती है,
हम हरबार खामोश रह जाते है,
क्योंकि वो अपना होने का हक जता जाती है..............!! 


कमाल का शख्स था जिसने जिन्दगी तबाह कर दी,
राज की बात है दिल उससे खफ़ा अब भी नहीं.............!! 




ILJAAM SHAYARI 

कौन करता हैं यहाँ प्यार निभाने के लिए,
दिल तो बस एक खिलौना हैं जमाने के लिए..............!! 


मोहब्बत तो दिल से की थी, दिमाग उसने लगा लिया,
दिल तोड़ दिया मेरा उसने और इल्जाम मुझपर लगा दिया..........!! 


तू कहीं भी रहे, इल्ज़ाम तो तुम्हारे सिर पर है, 
तुम्हारे हाथों के लकीरों में मेरा नाम तो हैं..........!! 


जानकर भी वो हमें जान ना पाए,
आज तक वो हमें पहचान ना पाए,
खुद ही कर ली बेवफ़ाई हम ने उनसे
ताकि उन पर बेवफ़ाई का कोई इल्ज़ाम ना आए...........!! 




ILJAAM SHAYARI IN HINDI 

हमारे हर सवाल का सिर्फ़ एक ही जवाब आया,
पैगाम जो पहुँचा हम तक बेवफ़ा इल्जाम आया.........!! 


मुझे हसरत ही नहीं मोहब्बत को पाने की,
अब तो चाहत हैं मोहब्बत को भूल जाने की..........!! 


बेवफ़ा तो वो ख़ुद हैं, पर इल्ज़ाम किसी और को देते हैं,
पहले नाम था मेरा उनके लबों पर, अब वो नाम किसी और का लेते हैं.........!! 


इल्ज़ाम लगा देने से बात सच हो नहीं जाती,
दिल पे क्या बीतती हैं किसी से कही नहीं जाती.........!! 




ILJAAM LOVE SHAYARI 

मेरी तबाही का इल्ज़ाम अब शराब पर हैं,
मैं और करता भी क्या तुम पे आ रही थी बात..........!! 


करता हूँ तुमसे मोहब्बत मरने पर इल्जाम होगा,
कफ़न उठा के देखना होठों पर तेरा नाम होगा..........!!


बेवफा तो वो खुद थी,
पर इल्ज़ाम किसी और को देती है, 
पहले नाम था मेरा उसके लबों पर,
अब वो नाम किसी और का लेती है, 
कभी लेती थी वादा मुझसे साथ न छोड़ने का,
अब बही वादा किसी और से लेती है.........!! 


दिल-ए-बर्बाद का मैं तुझे इल्ज़ाम नहीं देता,
हाँ अपने लफ़्ज़ों में तेरे जुर्म जरूर लिखता हूँ,
लेकिन तेरा नाम नहीं लेता.........!! 




ILJAAM SHAYARI 2 LINES 

हर बार हम पर,
इल्ज़ाम लगा देते हो मोहब्बत का,
कभी खुद से पूछा है,
की इतने हसीन क्यों हो.......!! 


जान कर भी वो मुझे जान न पाए,
आज तक वो मुझे पहचान न पाए,
खुद ही कर ली बेवफाई हमने,
ताकि उन पर कोई इलज़ाम न आये........!! 


गलतियों से अंजान तू भी नहीं, मैं भी नहीं, 
दोनों इंसान हैं, खुदा तू भी नहीं, मैं भी नहीं,
तू मुझे और मैं तुझे इल्ज़ाम देता हूँ मगर,
अपने अंदर झाँकता तू भी नहीं, मैं भी नहीं.........!! 


किस्मतें बदल जाती है,
जब ज़िन्दगी का कोई मकसद हो,
वरना ज़िन्दगी तो कट ही जाती है,
तकदीर को इल्जाम देते देते.........!! 




ILJAAM SHAYARI FOR WHATSAPP 


उदास वक्त, उदास जिन्दगी, उदास मौसम,
कितनी चीजो पे इल्जाम लगा है तेरे ना होने से............!! 


मेरी नजरों की तरफ देख जमानें पर न जा,
इश्क मासूम है इल्जाम लगाने पर न जा..........!! 


ये मिलावट का दौर है जनाब यहाँ,
इल्जामात लगाये जाते हैं तारिफों के लिबास में...........!! 


लफ्जों से इतना आशिकाना ठीक नहीं है ज़नाब,
किसी के दिल के पार हुए तो इल्जाम क़त्ल का लगेगा.........!! 




Iljaam Shayari Image

ILJAAM SHAYARI IN HINDI 

कोई इल्जाम रह गया हो तो वो भी दे दो,
पहले भी हम बुरे थे, अब थोड़े और सही..........!! 


चिराग जलाने का सलीका सीखो साहब
हवाओं पे इल्ज़ाम लगाने से क्या होगा..........!! 


हँस कर कबूल क्या कर ली सजाएँ मैंने,
ज़माने ने दस्तूर ही बना लिया हर इलज़ाम मुझ पर मढ़ने का........!! 


तू कहीं भी रह तेरे सर पे इल्जाम तो है,
तेरे हाथों की लकीरों में मेरा नाम तो है,
मुझे अपना बना या ना बना तेरी मर्जी,
पर तू मेरे नाम से बदनाम तो है.............!! 




ILJAAM SHAYARI FOR BOYFRIEND 

तेरी आँखों से दूर जाने के भी लिए तैयार तो थे हम,
फिर इस तरह, नज़रें घुमाने की जरूरत क्या थी,
तेरे इक इशारे पर हम इल्जाम भी अपने सर ले लेते,
फिर बेवजह, झूठे इल्जाम लगाने की जरुरत क्या थी..........!! 


तूमने ही लगा दिया इल्ज़ाम-ए-बेवफ़ाई,
अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी...........!! 


दुनिया को मेरी हकीकत का पता कुछ भी नहीं,
इल्जाम हजारो हैं पर खता कुछ भी नहीं...........!! 


मुझ पर इल्जाम हर बार लगाना ठीक नहीं,
वफ़ा खुद से नहीं होती खफा हम पर होते हो........!! 




सैड शायरी

बेवफाई मैंने नहीं की है मुझे इल्ज़ाम मत देना,
मेरा सुबूत मेरे अश्क हैं मेरा गवाह मेरा दर्द है........!! 


खुद न छुपा सके वो अपना चेहरा नकाब में,
बेवजह हमारी आँखों पे इल्ज़ाम लग गया........!! 


फिक्र है सबको खुद को सही साबित करने की,
जैसे ये जिन्दगी, जिन्दगी नही, कोई इल्जाम है........!!


उदास जिन्दगी, उदास वक्त, उदास मौसम,
कितनी चीजो पे इल्जाम लगा है तेरे ना होने से..........!!






दर्द में मुस्कराने शायरी

हँस कर कबूल क्या कर ली सजाएँ मैंने,
ज़माने ने दस्तूर ही बना लिया हर इलज़ाम मुझ पर मढ़ने का.........!!


दिल की ख्वाहिश को नाम क्या दूँ,
प्यार का उसे पैगाम क्या दूँ,
दिल में दर्द नहीं, उसकी यादें हैं,
अब यादें ही दर्द दे तो उसे इल्ज़ाम क्या दूँ...........!!


सबको फिक्र है अपने आप को सही साबित करने की,
जैसे जिन्दगी नहीं कोई इल्जाम है..........!!


लफ्जों से इतना आशिकाना ठीक नहीं है ज़नाब,
किसी के दिल के पार हुए तो इल्जाम क़त्ल का लगेगा..........!!





अवसरवादी शायरी

ये मिलावट का दौर हैं “साहब” यहाँ,
इल्जाम लगायें जाते हैं तारिफों के लिबास में........!!


कोई इल्जाम रह गया हो तो वो भी दे दो,
पहले भी हम बुरे थे, अब थोड़े और सही............!!


बेवजह दीवार पर इल्जाम है बंटवारे का,
कई लोग एक कमरे में भी अलग रहते हैं...........!!


मेरी नजरों की तरफ देख जमानें पर न जा,
इश्क मासूम है इल्जाम लगाने पर न जा.............!!




दलबदलू शायरी

चिराग जलाने का सलीका सीखो साहब,
हवाओं पे इल्ज़ाम लगाने से क्या होगा............!!


दुनिया को हकीकत का मेरी पता कुछ भी नहीं,
इल्जाम हजारो हैं और खता कुछ भी नहीं.............!!


जिस के लिए सब कुछ लुटा दिया हमने,
वो कहते हैं उनको भुला दिया हमने,
गए थे हम उनके आँसू पोछने,
इल्ज़ाम दे दिया की उनको रुला दिया हमने.........!!


हर बार हम पर इल्ज़ाम लगा जाते हो मोहब्बत का,
कभी खुद से पूछा है इतने हसीन क्यों हो...........!!




Iljaam Shayari Image

घटिया लोग शायरी

खुद न छुपा सके वो अपना चेहरा नकाब में,
बेवजह हमारी आँखों पे इल्ज़ाम लग गया..........!!


अब भी इल्जाम-ए-मोहब्बत है हमारे सिर पर,
अब तो बनती भी नहीं यार हमारी उसकी............!!


अधूरी हसरतो का आज भी इल्ज़ाम है तुम पर,
अगर तुम चाहते तो यह मोहब्बत खत्म न होती..........!!


जान कर भी वो मुझे जान न पाए,
आज तक वो मुझे पहचान न पाए,
खुद ही कर ली वेबफाई हमने,
ताके उन पर कोई इल्ज़ाम न आये.............!!





छोटे लोग शायरी

तू ने ही लगा दिया इल्ज़ाम-ए-बेवफ़ाई,
अदालत भी तेरी थी गवाह भी तू ही थी..........!!


हर बार इल्जाम हम पर ही लगाना ठीक नहीं,
वफ़ा खुद से नहीं होती खफा हम पर होते हो..........!!


मोहब्बत तो दिल से की थी, दिमाग उसने लगा लिया,
दिल तोड़ दिया मेरा उसने और इल्जाम मुझपर लगा दिया.........!!


दिल पे आये हुए इल्ज़ाम से पहचानते हैं,
लोग अब मुझको तेरे नाम से पहचानते हैं............!!





झुठी मुस्कुराहट शायरी

तुम मेरे लिए कोई इल्जाम न ढूँढ़ो,
चाहा था तुम्हे, यही इल्जाम बहुत है..........!!


हमारे हर सवाल का सिर्फ़ एक ही जवाब आया,
पैगाम जो पहुँचा हम तक बेवफ़ा इल्जाम आया.........!!


बेवफ़ा तो वो ख़ुद हैं, पर इल्ज़ाम किसी और को देते हैं,
पहले नाम था मेरा उनके लबों पर, अब वो नाम किसी और का लेते हैं...........!!


करता हूँ तुमसे मोहब्बत मरने पर इल्जाम होगा,
कफ़न उठा के देखना होठों पर तेरा नाम होगा.........!!




Iljaam Quotes 


मेरे दिल की मजबूरी को कोई इल्जाम ना दे,
मुझे याद रख बेशक मेरा नाम ना ले,
तेरा वहम है की मैंने भुला दिया तुझे,
मेरी एक सांस ऐसी नही जो तेरा नाम ना ले..........!!


मुझे इश्क है बस तुमसे नाम बेवफा मत देना,
गैर जान कर मुझे इल्जाम बेवजह मत देना,
जो दिया है तुमने वो दर्द हम सह लेंगे मगर,
किसी और को अपने प्यार की सजा मत देना..........!!


बस यही सोच कर कोई सफाई नहीं दी हमने,
कि इल्ज़ाम झूठे ही सही पर लगाये तो तुमने हैं...........!!


बेवफाई मैंने नहीं की है मुझे इल्ज़ाम मत देना,
मेरा सुबूत मेरे अश्क हैं मेरा गवाह मेरा दर्द है............!!




ILJAAM IN LOVE


इल्जाम जो तुमने दिए, साथ लिए फिरता हूँ सदा,
खिताब जो मिले दुनिया से, अलमारी में कैद है.........!!


झूठे इल्जाम, मेरी जान, लगाया ना करो,
दिल है नाज़ुक, इसे तुम ऐसे दुखाया ना करो.........!!


हुस्न वालों ने क्या कभी की ख़ता कुछ भी,
ये तो हम हैं सर इलज़ाम लिये फिरते हैं............!!


ये हुस्न तेरा ये इश्क़ मेरा,
रंगीन तो है बदनाम सही,
मुझ पर तो कई इल्ज़ाम लगे,
तुझ पर भी कोई इल्ज़ाम सही...........!!


मेरी तबाही का इल्ज़ाम अब शराब पर हैं,
मैं और करता भी क्या तुम पे आ रही थी बात...........!!







Comments

Read More

Hero Whatsapp Status । Hero Status FB In Hindi । हिरोपंती के कुछ पंक्तियाँ

50+ God Prayer Status Hindi, God Quotes | प्रार्थना स्टेटस

2022 Best Sakht Launda Status & Quotes In Hindi